Tue. May 28th, 2024

सभी किसान साथियों का आज की एक और पोस्ट में स्वागत है | क्या आप जानते हैं आज के सोयाबीन के भाव ( Soyabean ke bhav ) क्या है ? अगर आप नहीं जानते की सोयाबीन का भाव क्या है तो आज की इस पोस्ट में हम आपको सोयाबीन का भाव की सबसे सटीक जानकारी देंगे |

दोस्तों महाराष्ट्र में सोयाबीन की खेती करने वाले किसान परेशानी में नजर आ रहे हैं,राज्य की मंडियों में सोयाबीन दाम सिर्फ 3000 से लेकर 4000रुपये प्रति क्विंटल तक मिल रहा है | ऐसे में किसान परेशान है उनका कहना है कि मिल रहे कम भाव में हम अपनी लागत तक नहीं निकाल पाते है घाटे में सोयाबीन बेचने पर मजबूर है | देखिये महाराष्ट्र सोयाबीन का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है, लेकिन यहां के किसान इसकी खेती करके इस साल बहुत पछता रहे हैं. क्योंकि दाम एमएसपी से भी बहुत कम मिल रहा है | लासालगाँव मंडी में सोयाबीन का न्यूनतम दाम सिर्फ 3000 रुपये प्रति क्विंटल रह गया है |

यह भी पढ़ें 👉:- सरसों के ताजा मंडी भाव 9 मई 2024

किसान साथियों जबकि केंद्र सरकार ने एमएसपी घोष‍ित करते हुए माना था क‍ि क‍िसानों को इसकी उत्पादन लागत 3029 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल पड़ती है | यानी उत्पादन लागत के ही जितना दाम मिल रहा है | उसे बाजार तक ले जाने का खर्च अलग है | इसकी एमएसपी 4600 रुपये है | इसलिए किसानों को इस साल सोयाबीन की खेती में काफी घाटा हो रहा है |

सोयाबीन के भाव

Soyabean ke bhav | 9 मई सोयाबीन के भाव

  • दोस्तों बर्शी में 9 माई को 408 क्व‍िंटल की आवक हुई | यहां सोयाबीन का न्यूनतम दाम 4481, अध‍िकतम दाम 4600,और मॉडल दाम 4500 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल रहा |
  • किसान साथियों पटिहान मंडी में 1 क्व‍िंटल सोयाबीन की आवक हुई. यहां न्यूनतम दाम 3501 अध‍िकतम 3501और मॉडल प्राइस 3501 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल रहा |
  • दोस्तों सिंधी मंडी में सोयाबीन का न्यूनतम दाम 4000, अध‍िकतम 4450 जबक‍ि मॉडल प्राइस 4400रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल रहा |
  • येओला मंडी में सोयाबीन का न्यूनतम दाम 4001, अध‍िकतम 4551 और मॉडल प्राइस 4501 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल रहा |

ये है खाद्य तेलों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण फसल

दोस्तों इस समय किसानों को सोयाबीन का सही दाम भले ही न मिल रहा हो लेकिन यह खाद्य तेलों के दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण फसल है | यह भारत में 70 के दशक में आई थी और अपनी खासियत की वजह से बहुत तेजी से आगे बढ़ी | देखिये भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान के अनुसार वर्तमान में सोयाबीन देश में कुल तिलहन फसलों का 42 प्रतिशत और कुल खाद्य तेल उत्पादन में 22 प्रतिशत का योगदान दे रहा है | किसान साथियों सभी तिलहन फसलों में सोयाबीन ही ऐसी है जो भारत को खाद्य तेल के मामले में आत्मनिर्भर बनाने की सबसे ज्यादा क्षमता रखती है |

कब मिला था सोयाबीन का सबसे अच्छा दाम

किसान साथियों राज्य के किसानों का कहना है कि 2021 में उन्हें सोयाबीन का सबसे ज्यादा 11 हजार रुपये प्रति क्व‍िंटल तक का दाम म‍िला था | उसके बाद कभी इतना पैसा नहीं म‍िला और क‍िसानों का कहना है कि दाम 7000 से ज्यादा मिले तब फायदा होगा | देखिये महाराष्ट्र स्टेट एग्रीकल्चर प्राइस कमीशन के चेयरमैन पाशा पटेल के अनुसार महाराष्ट्र में सोयाबीन उत्पादन की लागत प्रति क्विंटल 6234 रुपये आती है | यह लागत चार कृषि विश्वविद्यालयों द्वारा दी गई रिपोर्ट पर आधार‍ित है | इसलिए इससे ज्यादा दाम मिलने पर ही फायदा है |

पशुओं का हरा चारा यहाँ उपलब्ध है :- Kisan Napier Farm

दोस्तों ये थे सोयाबीन के भाव ( Soyabean ke bhav ) उम्मीद करते हैं आपको आज का सोयाबीन का भाव की ये जानकारी पसंद आयी होगी | अगर आपको आज की ये जानकारी पसंद आयी तो आप इस जानकारी को ज़्यादा से ज़्यादा किसान भाइयों के पास फेसबुक ग्रुप्स, व्हाट्सप्प ग्रुप्स और भी सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर करें क्यूंकि इसी तरह की जानकारी आपको हर रोज़ हमारी इस वेबसाइट पर देखने को मिलती रहेगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *