Tue. May 28th, 2024

सभी किसान साथियों का आज की इस पोस्ट में स्वागत है | आज की इस पोस्ट में हम आपको गुलाब की खेती के बार में बताएँगे | किसान साथियों गुलाब की खेती एक महत्वपूर्ण कृषि उपकरण है, जिसे सही तरीके से करने से अच्छा मुनाफा होता है। दोस्तों हमारे देश के किसान लगातार खेती के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग कर रहे हैं |

धान-गेहूं जैसी पारंपरिक फसलों को छोड़कर अब नगदी फसलों की खेती और बागवानी पर जोर दिया जा रहा है | अगर आप खेती करके कम समय में अधिक कमाई करने वाली फसल की तलाश में हैं तो गुलाब की खेती करें | इस पोस्ट में आपको गुलाब की खेती, इसके उपयोग और बिक्री के बारे में पूरी जानकारी देते हैं |

गुलाब की खेती

Gulab Ki Kheti Kaise Karen गुलाब की खेती कैसे करें

  1. किसान साथियों आइये जानते हैं की गुलाब की खेती कैसे करें gulab ki kheti kaise karen | दोस्तों गुलाब की खेती करने के लिए कोई भी स्पेशल ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं है | कुछ लोगो का कहना है कि इसे सिर्फ पॉलीहाउस में ही उगा सकते हैं जो कि बिलकुल गलत है | आप सामान्य तापमान में इसे कहीं भी आसानी से उगा सकते हैं | गुलाब के लिए मिट्टी का पीएच मान 5.5 से 6.5 के बीच होना चाहिए |

2. गुलाब की खेती के लिए खेत की अच्छी तरह से जुताई करें इसके बाद खेत में क्यारियां बना लेनी है | इन क्यारियों की लम्बाई चौड़ाई 5 मीटर लम्बी 2 मीटर चौड़ी रखते है | दो क्यारियों के बीच में आधा मीटर स्थान छोड़ना चाहिए | इन क्यारियों को ठीक वैसे ही बनाना है जैसे आलू के खेत में बनाते हैं |

3. दोस्तों अब क्यारियों में 30-60 सेमी दूरी का ध्यान रखते हुए उपचार किए गए कलमों की रोपाई करनी है | रोपाई से पहले खेत में गोबर की खाद और पोटास की मात्रा मिलाना ना भूले, साथ ही रोपाई से पहले गुलाब के कलमों का रसायनिक उपचार करना भी आपको जरूरी है |

यह भी पढ़ें :- BPL राशन कार्ड वालों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी

4. इसके बाद गुलाब के पौधों के देखभाल की बात करें तो सिंचाई और निराई-गुड़ाई करनी भी बहुत ही जरूरी है | लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना होगा की क्यारियों के बीच जलजमाव ना होने पाए | हल्की सिंचाई रोपाई के तुरंत बाद करें उसके बाद नमी की जांच कर 8-8 दिन में सींचें, खरपतवार हटाते रहें |

गुलाब की खेती

5. किसान साथियों गुलाब के फूलों में रोपाई के 45 दिन बाद फिर ऑर्गेनिक खाद का छिड़काव करने से पौधों की ग्रोथ को रफ्तार मिलेगी | अगर कोई टहनी सूख रही है तो तत्काल उसे काटकर अलग कर दें | गुलाब के पौधों में फूल खिलने में लगभग चार महीने का समय लग सकता है |

6. अब गुलाब के फूलों के उपयोग की बात करें तो इससे बहुत से ब्यूटी प्रोडक्ट बनाए जाते हैं | गुलाब के फूलों को प्रोसेस करके कई दवाइयां भी बनाई जाती हैं | इतना ही नहीं गुलाब से गुलकंद, ठंडाई, सहित कई तरह के फूड आयटम भी बनाए जाते हैं इसलिए इसकी बाजार मांग बहुत ही अधिक है |

7. दोस्तों गुलाब के फूलों के उपयोग के बारे में जानकर आपने ये जान लिया होगा कि इसकी बाजार मांग बहुत अधिक है इसलिए इसे बेंचने के लिए आपको बहुत अधिक मेहनत करने की जरूरत नहीं है | बाजार में इसके खरीददार आसानी से मिलेंगे इसके अलावा कई बड़ी कंपनियां गुलाब की कांट्रैक्ट फॉर्मिंग करवाती हैं और सीधा किसानों से खरीदती हैं इसलिए आप सीधे कंपनियों को बेंच सकते हैं |

पशुओं का हरा चारा यहाँ उपलब्ध है :- Kisan Napier Farm

दोस्तों ये थी गुलाब की खेती की जानकारी | आज हमने आपको ये भी बताया की gulab ki kheti kaise karen | दोस्तों उम्मीद करते हैं आपको आज की ये जानकारी पसंद आयी होगी | अगर आपको आज की ये जानकारी पसंद आयी तो इसे शेयर जरूर कर दें | क्योंकि इसी तरह की जानकारी हम हर रोज़ हमारी इस वेबसाइट पर अपलोड करते रहते हैं |

अँधा पशुपालक करता है गजब का पशुपालन :-

gulab ki kheti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *