Fri. Jul 19th, 2024

आप सभी किसान साथियों का आज की इस पोस्ट में स्वागत है | दोस्तों एग्रीकल्चर ड्रोन ( Agriculture Drone ) के बारे में आप लोगो ने भी सुना होगा | कौशांबी की नेहा की किस्मत एग्री ड्रोन ने पुरे तरीके से बदल डाली है | नेहा ने बताया की वे साइकिल चला लेती हैं लेकिन जब उनके हाथ में ड्रोन का रिमोट आता है तब उनका आत्मविश्वास बढ़ जाता है | अपने परिवार के बारे में नेहा जी ने बताया की उनका सयुंक्त परिवार है | उनकी दो बेटियां हैं और पति जेसीबी मशीन का कारोबार करते हैं |

एग्रीकल्चर ड्रोन ( Agriculture Drone ) :- ड्रोन दीदी योजना के जरिये ग्रामीण महिलाएं अपने सपनों को उड़ान दे रही हैं | इसके साथ ही समाज में अपनी अलग पहचान भी बना रही हैं | साथियों उत्तर प्रदेश के कौशांबी की एक ऐसी ही महिला नेहा यादव हैं, जो 29 वर्ष की उम्र में अब ड्रोन पायलट के रूप में अपनी पहचान बना रही हैं |

यह भी पढ़ें :- अब किसान घर में ही करें केसर की खेती

नेहा यादव ने बताया कि वे 10 अक्टूबर 2023 को यूपी फूलपुर में (इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव) IFFCO की ट्रेनिंग कैंप में पहुंचे थे और वहां पर हमको प्रैक्टिकल के साथ ड्रोन उड़ाने की पूरी जानकारी दी गई | टेस्ट में पास होने के बाद मुझे ड्रोन पायलट का लाइसेंस दिया गया | 9 जनवरी 2023 को मुझे IFFCO की तरफ से मुफ्त में ड्रोन के साथ पूरा किट बैग भी दिया गया था | आइये हम विस्तार से इस पर चर्चा करें |

एग्रीकल्चर ड्रोन

एग्रीकल्चर ड्रोन ( Agriculture Drone ) ने बढ़ाया नेहा का आत्मविश्वास

नेहा ने बताया कि जब हम ड्रोन उड़ाते हैं तो सैकड़ों की संख्या में भीड़ जुट जाती है और आने वाले समय में ड्रोन खेती के लिए बहुत अहम यंत्र साबित होगा | साथ ही देश और प्रदेश का हर किसान खेती के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करेंगे | एमए और बीएड तक पढ़ाई कर चुकी नेहा यादव ने बताया कि इस बार धान के सीजन में उन्हें खूब काम मिलेगा | वो अपने गांव में किसानों को ड्रोन के इस्तेमाल से होने वाले फायदे को बारे में भी बताती हैं | इससे अधिक से अधिक संख्या में किसान भी जागरूक हो रहे हैं |

एक दिन में 10 एकड़ खेत में छिड़काव

नेहा यादव ने बताया कि पहली बार उन्होंने अपने गांव रामनगर में ड्रोन के जरिए किसान के एक एकड़ खेत में दवा का छिड़काव किया था | उस वक्त उन्हें एक एकड़ का 300 रुपये मिला था | नेहा बताती हैं कि अब सुबह शाम मिलाकर 10 एकड़ खेत में दवा का छिड़काव कर रही है | जिससे 3 हजार रुपये प्रतिदिन आय हो जा रही है |

यानी वे एक महीने में 90 हजार की कमाई कर रही हैं | वहीं उन्हें हर रोज काम मिलता रहता है | क्योंकि एक एकड़ खेत में दवा का छिड़काव 5-7 मिनट में वे कर देती हैं | 10 लीटर पानी में पूरे खेत में छिड़काव हो जाता है, इससे कम पानी में पूरे खेत में आसानी से किसानों के खेत में दवा का छिड़काव किया जा सकता हैं | वहीं इस से फसल भी खराब नहीं होती |

ड्रोन दीदी योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री ड्रोन दीदी योजना 30 नवंबर 2023 को शुरू की गई थी | इस योजना का लक्ष्य स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी 15,000 से अधिक महिलाओं को ड्रोन दीदी बनने का अवसर प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाना है | इसके अतिरिक्त, इस योजना में महिलाओं के लिए 15-दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम भी शामिल है, जो उन्हें ड्रोन चलाने और फसलों पर कीटनाशकों का छिड़काव करने में सक्षम बनाता है |

एग्रीकल्चर ड्रोन

पीएम इस योजना के माध्यम से महिलाएं आत्मनिर्भर बनेंगी और कृषि कार्यों में प्रभावी ढंग से योगदान देंगी | इसके अतिरिक्त, लाभार्थियों को ड्रोन संचालन के लिए 15,000 रुपये का मासिक अनुदान भी मिलेगा | प्रधानमंत्री द्रोण दीदी योजना कृषि क्षेत्र में महिला सशक्तिकरण और तकनीकी उन्नति की दिशा में एक कदम है, जो कृषि क्षेत्र की वृद्धि और विकास को सुनिश्चित करता है |

पशुओं का हरा चारा यहाँ उपलब्ध है :- Kisan Napier Farm

किसान साथियों आने वाले समय में ड्रोन खेती के लिए लाभदायक साबित होगा | ड्रोन खेती में कई किसानों का काम अकेला कर सकता है इस से समय की भी बचत होगी | इसी तरह की जानकारी आपको हर रोज़ हमारी वेबसाइट पर देखने को मिलती रहेगी |

One thought on “एग्रीकल्चर ड्रोन ने बदल डाली इस महिला की किस्मत , हर महीने कमा रही है 90 हज़ार रुपये”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *